News

शाश्वत योगिक खेती

राजकोट मेहुलनगर से ब्रह्माकुमार गणेशभाई  मोलिया के खेत में शाश्वत योगिक खेती में अमेरिकन मक्की की खेती टोटल योगिक रीती से की गई जिसमे खेत का काम भी ब्रह्मा वत्सो ने किया और खेती को सिर्फ डॉ बार जीवामृत दिया कोई भी रासायनिक खाद का उपयोग नहीं किया और ख़ास बात की पौधे को भी प्यार चाहिए तो हर सप्ताह 15 ब्रह्मा वत्स खेत में योग करने जाते थे और पाक को शुभ संकल्पों से सकाश देते थे और जब कुते भुट्टो को बिगाड़ते थे तो उन पर भी योग का प्रयोग किया की आप आओ आप को चाहिए उतने खाओ लेकिन बिगाड़ ना नहीं तो उसमे भी योग की रिजल्ट अच्छी रही और बहुत ही अच्छी फसल आई तो एग्रीकल्चर का अर्थ ही यही है की हमारी आगे की सतयुग की खेती गोबर के खाद से होती थी तो बिमारिय नहीं थी जब से पेस्टिसाइज का उपयोग बढ़ा तब से बिमारिय भी बढ़ रही है तो ये योगिक खेती कम खर्च में अच्छी फसल सात्विक पौष्टिक और शक्तिशाली अनाज से तन मन स्वस्थ हो जाते है तो